मेरे अन्य ब्लॉग

शुक्रवार, 9 मार्च 2018

बुद्ध और लेनिन

मुझमें और तालिबानियों में एक समानता है, बे बुद्ध की मूर्ति तोड़ बैठे और मैं लेनिन की| किन्तु कमाल है लेनिन इसे जानता नहीं और बुद्ध मूर्ति को टूटते हुए रो रहे थे, क्योंकि बुद्ध अमर है और लेनिन लापता|

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

त्वरित टिप्पणी कर उत्साह वर्धन करें.