मेरे अन्य ब्लॉग

मंगलवार, 21 फ़रवरी 2017

बसन्त बसन्ती

मैं भी खड़ा था द्वार पर बसन्त के इन्तजार में।
बसन्त तो आया नहीं बसन्ती आ गयी।।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

त्वरित टिप्पणी कर उत्साह वर्धन करें.